हम सब सुमन एक उपवन के – द्वारिका प्रसाद माहेश्वरी

हम सब सुमन एक उपवन के
एक हमारी धरती सबकी
जिसकी मिट्टी में जन्मे हम
मिली एक ही धूप हमें है
सींचे गए एक जल से हम।
पले हुए हैं झूल-झूल कर
पलनों में हम एक पवन के
हम सब सुमन एक उपवन के।।

रंग रंग के रूप हमारे
अलग-अलग है क्यारी-क्यारी
लेकिन हम सबसे मिलकर ही
इस उपवन की शोभा सारी
एक हमारा माली हम सब
रहते नीचे एक गगन के
हम सब सुमन एक उपवन के।।

सूरज एक हमारा, जिसकी
किरणें उसकी कली खिलातीं,
एक हमारा चांद चांदनी
जिसकी हम सबको नहलाती।
मिले एकसे स्वर हमको हैं,
भ्रमरों के मीठे गुंजन के
हम सब सुमन एक उपवन के।।

काँटों में मिलकर हम सबने
हँस हँस कर है जीना सीखा,
एक सूत्र में बंधकर हमने
हार गले का बनना सीखा।
सबके लिए सुगन्ध हमारी
हम श्रंगार धनी निर्धन के
हम सब सुमन एक उपवन के।।

– द्वारिका प्रसाद माहेश्वरी

द्वारिका प्रसाद माहेश्वरी द्वारा अन्य रचनाएँ

  • वीर तुम बढ़े चलो

  • उठो, धरा के अमर सपूतों

  • माँ! यह वसंत ऋतुराज री! (शीघ्र प्रकाशित होगी)

  • पुनः नया निर्माण करो (शीघ्र प्रकाशित होगी)

  • इतने ऊँचे उठो

  • मूलमंत्र (शीघ्र प्रकाशित होगी)

  • कौन सिखाता है चिडियों को (शीघ्र प्रकाशित होगी)

  • चंदा मामा, आ (शीघ्र प्रकाशित होगी)

  • हम सब सुमन एक उपवन के (शीघ्र प्रकाशित होगी)

  • यदि होता किन्नर नरेश मैं (शीघ्र प्रकाशित होगी)

  • उठो लाल अब आँखे खोलो (शीघ्र प्रकाशित होगी)

  • मैं सुमन हूँ (शीघ्र प्रकाशित होगी)

  • हम हैं (शीघ्र प्रकाशित होगी)

  • बिना सूई की घड़ियाँ (शीघ्र प्रकाशित होगी)

  • मुन्ना-मुन्नी (शीघ्र प्रकाशित होगी)

  • भालू आया (शीघ्र प्रकाशित होगी)

  • हाथी हाथी (शीघ्र प्रकाशित होगी)

  • यदि होता किन्नर नरेश मैं (शीघ्र प्रकाशित होगी)

  • हम सब सुमन एक उपवन के (शीघ्र प्रकाशित होगी)

  • चल मेरी ढोलकी (शीघ्र प्रकाशित होगी)

  • पूसी बिल्ली (शीघ्र प्रकाशित होगी)

  • दीपक ( कविता संग्रह) (शीघ्र प्रकाशित होगी)

  • ज्योति किरण ( कविता संग्रह) (शीघ्र प्रकाशित होगी)

  • फूल और शूल ( कविता संग्रह) (शीघ्र प्रकाशित होगी)

  • शूल की सेज ( कविता संग्रह) (शीघ्र प्रकाशित होगी)

  • शंख और बाँसुरी ( कविता संग्रह)  (शीघ्र प्रकाशित होगी)

  • सत्य की जीत (खंडकाव्य) (शीघ्र प्रकाशित होगी)

  • क्रौंच वध (खंडकाव्य) (शीघ्र प्रकाशित होगी)

शायरी ई-बुक्स ( Shayari eBooks)static_728x90

 

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s