रमानाथ अवस्थी

Ramanath-awasthi.jpgकवि परिचय

रमानाथ अवस्थी का जन्म फतेहपुर, उत्तरप्रदेश में हुआ। इन्होंने आकाशवाणी में प्रोडयूसर के रूप में वर्षों काम किया। ‘सुमन- सौरभ, ‘आग और पराग, ‘राख और शहनाई तथा ‘बंद न करना द्वार’ इनकी मुख्य काव्य-कृतियां हैं। ये लोकप्रिय और मधुर गीतकार हैं। इन्हें उत्तरप्रदेश सरकार ने पुरस्कृत किया है।

 

काव्यशाला द्वारा प्रकाशित रचनाएँ

  • बजी कहीं शहनाई सारी रात
  • करूँ क्या (शीघ्र प्रकाशित होगी)
  • वे दिन (शीघ्र प्रकाशित होगी)
  • उस समय भी (शीघ्र प्रकाशित होगी)
  • बुलावा (शीघ्र प्रकाशित होगी)
  • ऐसी तो कोई बात नहीं (शीघ्र प्रकाशित होगी)
  • सौ बातों की एक बात है (शीघ्र प्रकाशित होगी)
  • हम-तुम (शीघ्र प्रकाशित होगी)
  • मेरी रचना के अर्थ (शीघ्र प्रकाशित होगी)
  • मन चाहिए (शीघ्र प्रकाशित होगी)
  • सदा बरसने वाला मेघ (शीघ्र प्रकाशित होगी)
  • मेरे पंख कट गए हैं (शीघ्र प्रकाशित होगी)
  • सो न सका (शीघ्र प्रकाशित होगी)
  • लाचारी (शीघ्र प्रकाशित होगी)
  • अंधेरे का सफ़र (शीघ्र प्रकाशित होगी)
  • याद बन-बनकर गगन पर (शीघ्र प्रकाशित होगी)
  • असम्भव (शीघ्र प्रकाशित होगी)
  • इन्सान (शीघ्र प्रकाशित होगी)
  • कभी कभी (शीघ्र प्रकाशित होगी)
  • चंदन गंध (शीघ्र प्रकाशित होगी)
  • चुप रहिए (शीघ्र प्रकाशित होगी)
  • मन (शीघ्र प्रकाशित होगी)
  • रात की बात (शीघ्र प्रकाशित होगी)
  • जाना है दूर (शीघ्र प्रकाशित होगी)
  • जिसे कुछ नहीं चाहिए (शीघ्र प्रकाशित होगी)
  • वह आग न जलने देना (शीघ्र प्रकाशित होगी)
  • याद तुम्हारी आई सारी रात (शीघ्र प्रकाशित होगी)
  • वह एक दर्पण चाहिए (शीघ्र प्रकाशित होगी)

शायरी ई-बुक्स ( Shayari eBooks)static_728x90

Advertisements