अटल बिहारी वाजपेयी

imagesकवि परिचय

अटल बिहारी वाजपेयी (जन्म: 25 दिसंबर,1924) भारत के पूर्व प्रधानमंत्री हैं। वे पहले 16 मई से 1 जून 1996 तथा फिर 19 मार्च 1998 से 22 मई 2004 तक भारत के प्रधानमंत्री रहे। वे हिन्दी कवि, पत्रकार व प्रखर वक्ता भी हैं। वे भारतीय जनसंघ की स्थापना करने वाले महापुरुषों में से एक हैं और 1968 से 1973 तक उसके अध्यक्ष भी रहे। वे जीवन भर भारतीय राजनीति में सक्रिय रहे। उन्होंने लम्बे समय तक राष्ट्रधर्म, पांचजन्य और वीर अर्जुन आदि राष्ट्रीय भावना से ओत-प्रोत अनेक पत्र-पत्रिकाओं का सम्पादन भी किया। उन्होंने अपना जीवन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक के रूप में आजीवन अविवाहित रहने का संकल्प लेकर प्रारम्भ किया था और देश के सर्वोच्च पद पर पहुँचने तक उस संकल्प को पूरी निष्ठा से निभाया। वाजपेयी राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार के पहले प्रधानमन्त्री थे जिन्होंने गैर काँग्रेसी प्रधानमन्त्री पद के 5 साल बिना किसी समस्या के पूरे किए। उन्होंने 24 दलों के गठबंधन से सरकार बनाई थी जिसमें 81 मन्त्री थे। कभी किसी दल ने आनाकानी नहीं की। इससे उनकी नेतृत्व क्षमता का पता चलता है। सम्प्रति वे राजनीति से संन्यास ले चुके हैं और नई दिल्ली में 6-ए कृष्णामेनन मार्ग स्थित सरकारी आवास में रहते हैं।

अटल बिहारी वाजपेयी राजनीतिज्ञ होने के साथ-साथ एक कवि भी हैं। मेरी इक्यावन कविताएँ अटल जी का प्रसिद्ध काव्यसंग्रह है। वाजपेयी जी को काव्य रचनाशीलता एवं रसास्वाद के गुण विरासत में मिले हैं। उनके पिता कृष्ण बिहारी वाजपेयी ग्वालियर रियासत में अपने समय के जाने-माने कवि थे। वे ब्रजभाषा और खड़ी बोली में काव्य रचना करते थे। पारिवारिक वातावरण साहित्यिक एवं काव्यमय होने के कारण उनकी रगों में काव्य रक्त-रस अनवरत घूमता रहा है। उनकी सर्व प्रथम कविता ताजमहल थी। इसमें शृंगार रस के प्रेम प्रसून न चढ़ाकर “एक शहंशाह ने बनवा के हसीं ताजमहल, हम गरीबों की मोहब्बत का उड़ाया है मजाक” की तरह उनका भी ध्यान ताजमहल के कारीगरों के शोषण पर ही गया। वास्तव में कोई भी कवि हृदय कभी कविता से वंचित नहीं रह सकता। राजनीति के साथ-साथ समष्टि एवं राष्ट्र के प्रति उनकी वैयक्तिक संवेदनशीलता आद्योपान्त प्रकट होती ही रही है। उनके संघर्षमय जीवन, परिवर्तनशील परिस्थितियाँ, राष्ट्रव्यापी आन्दोलन, जेल-जीवन आदि अनेक आयामों के प्रभाव एवं अनुभूति ने काव्य में सदैव ही अभिव्यक्ति पायी। विख्यात गज़ल गायक जगजीत सिंह ने अटल जी की चुनिंदा कविताओं को संगीतबद्ध करके एक एल्बम भी निकाला था।
कविता संग्रह

काव्यशाला द्वारा प्रकाशित रचनाएँ 

अटल बिहारी वाजपेयी जी की अन्य प्रसिध रचनाएँ 


मेरी संसदीय यात्रा – अटल बिहारी वाजपेयी

विचार बिंदु – अटल बिहारी वाजपेयी

क्या खोया क्या पाया – अटल बिहारी वाजपेयी

चुनी हुई कविताएँ – अटल बिहारी वाजपेयी

कुछ लेख कुछ भाषण – अटल बिहारी वाजपेयी

शक्ति से शांति – अटल बिहारी वाजपेयी

Selected Poems – Atal Bihari Vajpayee

नयी चुनौती नया अवसर – अटल बिहारी वाजपेयी

गठबंधन की राजनीति – अटल बिहारी वाजपेयी

A Constructive Parliamentarian

संकल्प काल – अटल बिहारी वाजपेयी

बिंदु बिंदु विचार – अटल बिहारी वाजपेयी

मेरी संसदीय यात्रा भाग १ – अटल बिहारी वाजपेयी

मेरी संसदीय यात्रा भाग २ – अटल बिहारी वाजपेयी

मेरी संसदीय यात्रा भाग ३ – अटल बिहारी वाजपेयी

मेरी संसदीय यात्रा भाग ४ – अटल बिहारी वाजपेयी

नयी चुनौती नया अवसर – अटल बिहारी वाजपेयी

Four Decades In Parliament:3 Vols

वाजपेयी रचना संकलन – अटल बिहारी वाजपेयी

Towards a New World : Defining Moments

श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी पर लिखी हुई रचनायें


A Man For All Seasons – Kingshuk Nag

हार नहीं मानूँगा (एक अटल जीवन गाथा) – विजय त्रिवेदी

Kashmir : The Vajpayee Years

The Untold Vajpayee – Ullekh N.P.

अटल बिहारी वाजपेयी – नेताजी गायकवाड

अटल बिहारी वाजपेयी अजातशत्रु – विश्वेशर भट

गीत नया गाता हूँ – विवेक कुमार

अटल बिहारी वाजपेयी – ऐ के गांधी

Atal Bihari Vajpayee – Swati Upadhye
       Poet & Prime Minister – Pentagon Press
Motivating Thoughts of Atal Bihari Vajpayee – Raghav

Bharat Ratna Atal Bihari Vajpaaye – Asha Kiran

अटल बिहारी वाजपेयी की काव्य चेतना – डॉ अरुण कुमार भगत

Atal Bihari Vajpayee : The Man and His Vision

भारतीय राजनीति में अटल बिहारी वाजपेयी – डॉ श्रद्धा अवस्थि

इंडिया अंडर अटल बिहारी वाजपेयी : द बी.जे.पी. एरा

अटल बिहारी वाजपेयी जी की रचनाएँ ऑडीओ (AUDIO CD) सी.डी. में या अन्य भाषाओं में 

हिंदी ई-बुक्स (Hindi eBooks)static_728x90

 

Advertisements